Home Top Ad

खाटू श्याम जी की आरती | Khatu Shyam Ji Ki Aarti in Hindi - Jai Shri Shyam Hare

Share:
खाटू श्याम जी की आरती | Khatu Shyam Ji Ki Aarti in Hindi - Jai Shri Shyam Hare
श्री खाटू श्यामजी की आरती

ॐ जय श्री श्याम हरे, बाबा जय श्री श्याम हरे।
Om Jai Shri Shyam Hare, Baba Jai Shri Shyam Hare
खाटू धाम विराजत, अनुपम रूप धरे॥
Khatu Dham Virajat, Anupam Roop Dhare
ॐ जय श्री श्याम हरे॥
Om Jai Shri Shyam Hare

रतन जड़ित सिंहासन, सिर पर चंवर ढुरे।
Ratan Jadit Sinhasan, Sir par Chanwar Dhure
तन केसरिया बागो, कुण्डल श्रवण पड़े॥
Tan Kesariya Bago, Kundal Shravan Pade
ॐ जय श्री श्याम हरे॥
Om Jai Shri Shyam Hare

गल पुष्पों की माला, सिर पर मुकुट धरे।
Gal Pushpo Ki Mala, Sir Par Mukut Dhare
खेवत धूप अग्नि पर, दीपक ज्योति जले॥
Khewat Dhup Agni Par, Deepak Jyoti Jale
ॐ जय श्री श्याम हरे॥
Om Jai Shri Shyam Hare
मोदक खीर चूरमा, सुवरण थाल भरे।
Modak Kheer Churma, Suvran Thal Bhare
सेवक भोग लगावत, सेवा नित्य करे॥
Sewak Bhog Lagawat, Sewa Nitya Kare
ॐ जय श्री श्याम हरे॥
Om Jai Shri Shyam Hare
झांझ कटोरा और घड़ि़यावल, शंख मृदंग धुरे।
Jhanjh Katora Aur Ghadiyawal, Sankh Mridung Dhure
भक्त आरती गावे, जय-जयकार करे॥
Bhakt Aarti Gawa, Jai Jaikar Kare
ॐ जय श्री श्याम हरे॥
Om Jai Shri Shyam Hare


जो ध्यावे फल पावे, सब दुःख से उबरे।
Jo Dhyawe Fal Pawe, Sab Dukh se Ubre
सेवक जन निज मुख से, श्री श्याम-श्याम उचरे॥
Sewak Jan Nij Mukh Se, Shri Shyam-Shyam Uchre
ॐ जय श्री श्याम हरे॥
Om Jai Shri Shyam Hare
'श्री श्याम बिहारीजी' की आरती, जो कोई नर गावे।
Shri Shyam Bihar Ji Ki Aarti, Jo Koi Nar Gawe
कहत 'आलूसिंह' स्वामी, मनवांछित फल पावे॥
Kahat 'Aalusingh' Swami, Manwanchhit Fal Pawe
ॐ जय श्री श्याम हरे॥
Om Jai Shri Shyam Hare

तन मन धन सब कुछ है तेरा, हो बाबा सब कुछ है तेरा।
Tan Man Dhan Sab Kuchh Hai Tera, Ho Baba Sab Kuchh Hai Tera
तेरा तुझको अर्पण, क्या लागे मेरा॥
Tera Tujhko Arpan, Kya Lage Mere
ॐ जय श्री श्याम हरे॥
Om Jai Shri Shyam Hare

जय श्री श्याम हरे, बाबा जी जय श्री श्याम हरे।
Jai Shri Shyam Hare, Baba Ji Jai Shri Shyam Hare,
निज भक्तों के तुमने, पूरण काज करे॥
Nij Bhakto Ke Tumne, Pooran Kaj Kare
ॐ जय श्री श्याम हरे॥
Om Jai Shri Shyam Hare

1 comment:

  1. ॐ जय श्री श्याम हरे, बाबा जय श्री श्याम हरे।
    खाटू धाम विराजत, अनुपम रूप धरे॥
    ॐ जय श्री श्याम हरे॥

    *बाबा श्याम जी की ये ☝🏼आरती के रचयिता कौन है।*

    ReplyDelete